प्राइवेट सेक्टर की एयरलाइन स्पाइसजेट (के शेयरों में आज 5 दिसंबर को 3 फीसदी से अधिक की तेजी देखी गई।

इस समय यह स्टॉक 0.28 फीसदी की मामूली गिरावट के साथ 46.13 रुपये के भाव पर ट्रेड कर रहा है।

दरअसल, नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) ने स्पाइसजेट के खिलाफ दिवाला कार्यावाही को लेकर दायर याचिका खारिज कर दी है।

यह याचिका एयरक्राफ्ट लीज पर देने वाली कंपनी विलिस लीज फाइनेंस कॉरपोरेशन ने एयरलाइन पर बकाया का दावा करते हुए दायर की थी।

एयरलाइन स्पाइसजेट ने याचिका का विरोध करते हुए कहा कि विलिस लीज फाइनेंस कॉरपोरेशन ने मार्च 2023 में उसी विवाद के लिए अपनी दिवाला याचिका वापस ले ली थी और एक नई याचिका के साथ फिर से आग्रह किया है।

करीब 3 एयरक्राफ्ट लेसर्स (Aircraft Lessors) ने बकाया भुगतान न करने पर 2023 में स्पाइसजेट के खिलाफ चार दिवालिया याचिकाएं दायर की हैं।

स्पाइसजेट के आवेदन पर ट्रिब्यूनल द्वारा सुनवाई के बाद एनसीएलटी द्वारा 4 दिसंबर 2023 को विलिस की याचिका खारिज कर दी गई।

NCLT ने सवाल उठाया कि स्पाइसजेट को सूचित किए बिना उसी कार्रवाई के लिए उसके खिलाफ नई याचिका कैसे दायर की जा सकती है।

कर्ज में डूबी यह एयरलाइन पूरे भारत में ऑपरेशनल संबंधी दिक्कतों का सामना कर रही है, जिससे हाल ही में पुणे, पटना और नई दिल्ली एयरपोर्ट पर फ्लाइट सर्विसेज में देरी हुई है

पिछले एक महीने में स्पाइसजेट के शेयरों में 22 फीसदी की तेजी आई है। वहीं, पिछले 6 महीने में इसने 74 फीसदी का शानदार रिटर्न दिया है। इस साल अब तक कंपनी के शेयर 18 फीसदी चढ़े हैं। वहीं, पिछले एक साल में इसने 16 फीसदी का रिटर्न दिया है।